Welcome अगस्त, हिंदुस्तान तुम्हारा स्वागत करता है
Last Update: 02 Aug 2015 11:52
   
अगस्त का महीना आ गया....वेलकम अगस्त.....अगस्त का महीना हिन्दुस्तान के लिए बेहद खास है.....इसी महीने 15 अगस्त को हमने आजृादी की हवा में सांस ली थी....गुलामी की ज़ंजीर तोड़ आजाद भारत देखा था.। ये संयोग ही है कि अगस्त माह में ही ब्रिटिश सरकार ने 'गवर्मेंट ऑफ इंडिया ऐक्ट' भी पारित किया था, जिसके तहत भारत ईस्ट इंडिया कंपनी के हाथ से निकलकर पूरी तरह ब्रिटिश रानी का उपनिवेश बन गया था।
अगस्त माह में ही पवित्र श्रावण मास का भी आरंभ हुआ है । हिंदुओं के लिए ये बेहद पवित्र माह के तौर पर माना जाता है । इसी माह हिन्दुस्तान में त्यौहारों की भी शुरुआत हो जाती है । भाई बहन का प्यार रक्षाबंधन के रुप में तो नागपंचमी से लेकर हरियाली तीज तक त्यौहार ही त्यौहार इस माह में होते हैं. । श्रावण पूर्णिमा को दक्षिण में नारियली पूर्णिमा, मध्यभारत में कजरी पूनम, गुजरात में पवित्रोपना के रुप में मनता है । इसी माह जैन धर्मावलंबियो का पवित्र पर्यूषण पर्व भी पड़ता है । श्रावण के झुलों का , मेलों का साल भर महिलाएं और बच्चे खास तौर पर इ्ंतजार करते हैं । इस माह को वर्षा ऋतु का महीना या पावस ऋतु भी कहते हैं । इस माह में बहुत वर्षा होती है और अन्नदाता किसानों के लिहाज से भी ये बेहद खास रहा है । आजकल तो दोस्ती को भी फ्रैंडशिप डे के रुप में इसी महीने सेलिब्रेट किया जाने लगा है । अगस्त माह ने ही हिन्दुस्तान को दुनिया भर में गौरवान्वित करने वाले संगठन 'इसरो' दिया । इसी अगस्त माह ने देश के गौरव और हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद, अंतरिक्ष के क्षेत्र में देश को विजन देने वाले विक्रम साराभाई, कार्टूनिस्ट प्राण जैसे दिग्गजों को दिया ।
हालांकि अगस्त माह की मेहरबानी दुनिया पर उतनी नही रही है । अगस्त का महीना जितना भारत पर मेहरबान है उतना दुनिया पर नही । प्रथम विश्वयुद्ध वैसे तो जुलाई में शुरु माना जाता है....लेकिन इस युद्ध ने विश्वयुद्ध का स्वरुप अगस्त में ही धारण किया था । दूसरे विश्व युद्ध में भी जापान के हिरोशिमा , नागासाकी पर इसी महीने में परमाणु बम गिराए गए थे । कुल मिलाकर हमारे देश के लिए ये माह बेहद खास है.....इसकी शुरुआत से ही उमंग का एहसास होने लगता है । देशभर में विभिन्न स्वरुपों में आनंद का वातावरण बनने लगता है । दुनिया के 23 देशों को इसी महीने आजादी मिली थी । जिसमें भारत के अलावा जमैका, पाकिस्तान, सिंगापुर, इंडोनेशिया, अफगानिस्तान, स्विटजरलैंड और दोनो कोरिया शामिल हैं । तो अगस्त भारत पर तो हमेशा से मेहरबान रहा है......तो वेलकम अगस्त....हिन्दुस्तान तुम्हारा स्वागत करता है ।
Last Update: 02 Aug 2015 11:52
TAG:
ABHISHEK
  Comment
Name Email
Comment
ANUJ SINHA
nice
Kishore
Good one. keep it up
ना बने 'छद्म पीड़ितों' का 'चारा'
'SORRY' मुझे हिंदी नहीं आती...!!!
'बड़े परिवर्तन के लिए, बड़े फैसले लेने होंगे'
बस एक क्षण कीजिए विचार - 'आज़ाद' हुए क्या !!!
कौन सा वाला....'दोस्त'?